Home Tags Summary of ram scion of ikshvaku

Ram: Scion of Ikshvaku Book Pdf Free Download

Ram: Scion of Ikshvaku By Amish Tripathi

Ram: Scion of Ikshvaku is a one to one replica of the events taking place before the epic tale “Ramayana” and also the fourth book of Amish Tripathi, fourth book of Amishverse, and first book of Ram Chandra Series.It was released on 22 June 2015.

Lose yourself in this epic adventure thriller, based on the Ramayana, the story of Lord Ram, written by the multi-million bestselling Indian Author Amish; the author who has transformed Indian Fiction with his unique combination of mystery, mythology, religious symbolism and philosophy. In this book, you will find all the familiar characters you have heard of, like Lord Ram, Lord Lakshman, Lady Sita, Lord Hanuman, Lord Bharat and many others from Ayodhya. And even some from Lanka like Ravan! Read this BESTSELLER, the highest selling book of 2015, the first book of the Ram Chandra Series.

Ram chandra series book 01 scion of ikshvaku

Download

 

 

Ram chandra series book 02 sita warrior of mithila

Download

 

 

Ram chandra series book 03 raavan enemy of aryavarta

Download

 

 

Ram: Scion of Ikshvaku in Hindi PDF

जैसे ही वे किनारे पर पहुंचे, सामने के दृश्य ने राम का ध्यान आकर्षित कर लिया। बाहरी दीवार और खंदक के परे, जंगल के साथ-साथ एक छोटी सी सेना बेहद अनुशासित ढंग से आगे बढ़ रही थी। उनके साथ नियमित अंतराल पर दस ध्वजवाहक चल रहे थे, जिन्होंने अपनी ध्वजा को ऊंचा उठाया हुआ था। कुछ ही पलों में, जंगल से निकलकर सिपाहियों की लहर, स्पष्ट पंक्तियों में खड़ी हो गई। हर समूह में लगभग हजार सिपाही थे, और हज़ार-हजार सिपाहियों के दस’ समूह थे।

उन्होंने सतर्कता से अपने बीच खासी बड़ी जगह को खाली छोड़ दिया था। राम ने ध्यान दिया कि सिपाहियों की धोतियां उसी रंग की थीं, जैसा उनकी ध्वजा का रंग था। उन्होंने अनुमान लगाया कि वहां लगभग दस हजार सिपाही मौजूद रहे होंगे। वो संख्या में बहुत ज़्यादा तो नहीं थे, लेकिन मिथिला जैसे नगर को परेशान करने के लिए पर्याप्त थे।

 


Download